2024 चुनाव: बिहार में विपक्षी एकता का सपना टूटा?

2024 चुनाव: बिहार में विपक्षी एकता का सपना टूटा?

Share with
Views : 74

बिहार में 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए विपक्षी एकता की उम्मीदें धूमिल होती नजर आ रही हैं। इंडी एलायंस, जो एक संभावित विकल्प के रूप में उभरा था, अभी भी अनिश्चितता की स्थिति में है। एलायंस के घटक दल महागठबंधन के प्रदर्शन को देखते रहेंगे और उसके बाद ही कोई निर्णय लेंगे।

महागठबंधन में भी खींचतान:

महागठबंधन में भी सीटों के बंटवारे को लेकर खींचतान जारी है। कांग्रेस 15 सीटों पर चुनाव लड़ने की मांग कर रही है, जबकि RJD 25 सीटों के लिए अड़ा हुआ है। वाम दलों को भी 6 सीटें चाहिए।

इंडी एलायंस का भविष्य अनिश्चित:

इंडी एलायंस में शामिल Hindustani Awam Morcha (HAM), Vikassheel Insaan Party (VIP), और Jan Adhikar Party (JAP) अभी भी इंतजार कर रहे हैं। HAM के नेता जीतन राम मांझी ने कहा है कि वे महागठबंधन के प्रदर्शन को देखने के बाद ही कोई निर्णय लेंगे। VIP के मुकेश सहनी भी सीटों के बंटवारे को लेकर नाराज हैं।

बीजेपी को फायदा:

विपक्षी एकता की कमी से बीजेपी को फायदा मिल सकता है। 2019 के लोकसभा चुनावों में, बीजेपी ने बिहार की 40 में से 39 सीटें जीती थीं।

विश्लेषण:

यह स्पष्ट है कि बिहार में विपक्षी एकता का सपना टूट गया है। महागठबंधन में भी खींचतान जारी है। इंडी एलायंस के घटक दल भी अभी इंतजार कर रहे हैं। इस स्थिति में, 2024 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी का दबदबा बने रहने की संभावना है।

कुछ महत्वपूर्ण बातें:

  • बिहार में 40 लोकसभा सीटें हैं।
  • 2019 के लोकसभा चुनावों में, बीजेपी ने 39 सीटें जीती थीं।
  • महागठबंधन में RJD, कांग्रेस, और वाम दल शामिल हैं।
  • इंडी एलायंस में HAM, VIP, और JAP शामिल हैं।
  • विपक्षी एकता की कमी से बीजेपी को फायदा मिल सकता है।
error: कॉपी नहीं होगा भाई खबर लिखना सिख ले