विराट कोहली ने रिंकू सिंह पर कसा तंज, रन आउट बचने के बाद!<br>

विराट कोहली ने रिंकू सिंह पर कसा तंज, रन आउट बचने के बाद!

Share with
Views : 28

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने युवा खिलाड़ी रिंकू सिंह को लेकर एक दिलचस्प टिप्पणी की है, जिसने सोशल मीडिया पर हलचल मचा दी है। यह घटना हाल ही में घरेलू टूर्नामेंट के दौरान हुई, जहां रिंकू सिंह एक रन आउट बचने में सफल रहे।

क्या हुआ मैच में?

मैच की जानकारी स्पष्ट रूप से उपलब्ध नहीं है, लेकिन माना जा रहा है कि यह किसी घरेलू टूर्नामेंट का हिस्सा था। रिंकू सिंह, जो आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं, क्रीज पर जमे हुए थे। उन्होंने एक गेंद को जोरदार प्रहार किया, लेकिन शॉट सीधा फील्डर के पास चला गया। फील्डर ने तुरंत गेंद को विकेटकीपर की तरफ फेंका।

रन आउट बचने का रोमांच

रिपोर्ट्स के अनुसार, रिंकू सिंह उस समय क्रीज से काफी दूर थे। विकेटकीपर ने भी गिल्लियां धमाकेदार तरीके से बिखेरीं, लेकिन रोमांच तब बढ़ गया जब टीवी रिप्ले से पता चला कि गेंद विकेटों को नहीं छू रही थी। बाल-बाल बचने के बाद रिंकू सिंह ने राहत की सांस ली और क्रीज पर वापस दौड़े।

कोहली का मजेदार कमेंट

इस घटना के बाद, विराट कोहली, जो मैच का विश्लेषण कर रहे थे, कमेंट्री बॉक्स में एक चुटकी लेने से नहीं चूके। उन्होंने कहा, "वह (रिंकू सिंह) भाग्यशाली रहे कि गेंद विकेटों से नहीं टकराई। उन्हें क्रीज पर रहने का महत्व समझना होगा।" कोहली ने आगे कहा, "मुझे पता है कि वह एक आक्रामक खिलाड़ी हैं, लेकिन कभी-कभी सिंगल लेना भी जरूरी होता है।"

सोशल मीडिया पर चर्चा

कोहली की इस टिप्पणी ने सोशल मीडिया पर तेजी से ट्रेंड करना शुरू कर दिया। कुछ यूजर्स ने कोहली की बात का समर्थन किया और कहा कि रिंकू सिंह को थोड़ा और संयम रखने की जरूरत है। वहीं, कुछ अन्य यूजर्स ने रिंकू सिंह का बचाव किया और कहा कि युवा खिलाड़ियों को आक्रामक होना चाहिए और अनुभव के साथ वह खेल को समझना सीख लेंगे।

रिंकू सिंह का जवाब

रिंकू सिंह ने भी सोशल मीडिया पर कोहली की टिप्पणी का जवाब दिया। उन्होंने लिखा, "कोहली भाई की बात का सम्मान करता हूं। वह दिग्गज हैं और उनसे सीखने के लिए बहुत कुछ है। मैं अपनी गलतियों से सीख रहा हूं और निश्चित रूप से भविष्य में बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा।"

निष्कर्ष

विराट कोहली की टिप्पणी और रिंकू सिंह के जवाब ने क्रिकेट जगत में चर्चा को जन्म दिया है। यह युवा खिलाड़ियों को मार्गदर्शन देने और उन्हें खेल की बारीकियों को समझने में मदद करने के महत्व को रेखांकित करता है। साथ ही, यह इस बात को भी दर्शाता है कि युवा खिलाड़ी कैसे अनुभवी खिलाड़ियों से सीख सकते हैं और अपना खेल निखार सकते हैं।

error: कॉपी नहीं होगा भाई खबर लिखना सिख ले